चंडीगढ़

IAS Rani Nagar News: हरियाणा कैडर की IAS अफसर को 4 महीने से नहीं मिल रहा है वेतन, सोशल मीडिया पर बयां किया दर्द

चंडीगढ़, IAS Rani Nagar News :- भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी कुमारी रानी नागर एक बार फिर से सुर्खियों में आई है. आपको बता दे कि वह पहले भी अपने Resign की वजह से सुर्खियों में रह चुकी है. रानी नागर मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के गांव बदरपुर की रहने वाली है. उनके पिता का नाम रतन सिंह नागर है. रानी साल 2014 बैच की हरियाणा कैडर की IAS है. IAS रानी नागर हरियाणा कैडर में अतिरिक्त सचिव पद पर कार्यरत है. रानी नागर का कहना है कि उन्हें 4 महीने से वेतन नहीं दिया जा रहा है.

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now
ias rani Nagar
ias rani Nagar

चार महीना से नहीं दिया गया वेतन

IAS रानी नागर ने Facebook पर Post करके अपने वेतन को रोके जाने की खबर दी है. उन्होंने एक पोस्ट में लिखा कि IAS रानी नागर आर्थिक विषमताओं से जूझ रही है. हरियाणा सरकार 4 महीने का वेतन उनके खाते में जारी करें. आईएएस अधिकारी रानी नगर की फेसबुक पोस्ट के मुताबिक उनका जून 2023 से सितंबर 2023 तक का वेतन अभी तक नहीं दिया गया है. रानी नगर ने फेसबुक पर अपना Medical Certificate सहित सभी जरूरी दस्तावेज भी शेयर किए हैं. उन्होंने 8 जून 2023 को ड्यूटी ज्वाइन करने की जानकारी भी फेसबुक पर दी है.

रानी नगर का रिजाइन केस 

साल 2020 में रानी नागर ने भारतीय प्रशासनिक सेवाओं से इस्तीफा दे दिया था, परंतु बाद में उन्होंने इस्तीफा वापस भी ले लिया था. रानी ने अपने फेसबुक पर अपनी हत्या की आशंका जताने वाली Post भी Share की थी. इस Post की वजह से वह बहुत चर्चा में रही थी.

बताया जान का खतरा

फेसबुक पर पोस्ट किए गए एक Video में रानी नागर ने बताया था कि वह दिसंबर 2020 से अपनी बहन रीमा नगर के साथ चंडीगढ़ के सेक्टर 6 स्थित यूटी गेस्ट हाउस के कमरा नंबर 311 में किराए पर रहती है. एक दिन उन्होंने सुबह करीबन 5:00 बजे FB पर पोस्ट करके कहा था कि Lockdown के बाद वह इस्तीफा दे देंगी . उन्होंने एक मुकदमा संख्या का जिक्र करते हुए यह भी कहा कि उन दोनों बहनों की जान को खतरा है. यदि उनके साथ कोई है अप्रिय घटना होती है तो मुकदमा संख्या के आधार पर पता लगाया जाए.

CA के रूप में करेंगी काम

IAS रानी नागर ने 29 सितंबर 2023 को Facebook पर एक Post Share करते हुए कहा कि ‘यदि सरकार मुझे बर्खास्त का आदेश देती है तो मैं एक निजी संगठन में Chartered Accountant के रूप में काम करने के लिए सक्षम हूं. मैं अपनी सरकारी नौकरी के संबंध में सरकार के अंतिम आदेश का Wait कर रही हूं. यदि परिस्थितियों मुझे अनुमति देता है तो मैं कानूनी अपील कर सकती हूं, अन्यथा में निजी नौकरी कर लूंगी’.

Author Komal Tanwar

नमस्कार मेरा नाम कोमल तंवर है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर बतौर कंटेंट राइटर काम करती हूँ. मैं प्रतिदिन हरियाणा की सभी ब्रेकिंग न्यूज पाठकों तक पहुंचाती हूँ. मेरी हमेशा कोशिश रहती है कि मैं अपना काम अच्छी तरह से करू और आप लोगों तक सबसे पहले न्यूज़ पंहुचा सकूँ. जिससे आप लोगों को समय पर और सबसे पहले जानकारी मिल जाए. मेरा उद्देशय आप सभी तक Haryana News सबसे पहले पहुँचाना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

कृपया इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए आपके ऐड ब्लॉकर को बंद करे