नई दिल्ली

Success Story IAS Mudra Gairola: डॉक्टरी छोड़कर पहले बनी IPS और फिर IAS, खूबसूरती देख आप भी हार बैठेंगे दिल

नई दिल्ली, Success Story IAS Mudra Gairola :- पुरानी विचारधारा के अनुसार बेटियों के पैदा होने पर घरों में मातम छा जाता था, वही बेटे के पैदा होने पर घर में खुशियों का माहौल बन जाता था. जैसे जैसे समय बितता जा रहा है वैसे- वैसे लोगों की विचारधारा भी एक तरह से बदलती जा रही है. आज अधिकतर माता- पिता बेटियों के जन्म पर खुशियां मनाते हैं. बेटियों को पढ़ाते हैं उनके सपने पूरे करते हैं. आज हम आपको एक ऐसी बेटी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने अपने सपनो को छोड़कर अपने पिता के सपनों को पूरा किया.

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now
Success Story IAS Mudra Gairola
Success Story IAS Mudra Gairola

10वीं और 12वीं अच्छे नंबरों से की उत्तीर्ण 

उत्तराखंड के चमोली जिले के कर्णप्रयाग की रहने वाली IAS अफसर मुद्रा गैरोला वर्तमान में अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहती है. वह बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल रही है. मुद्रा गैरोला ने 10वीं कक्षा में 96% और 12वीं कक्षा में 97% अंक प्राप्त किए थे. इसके अलावा मुद्रा गैरोला को भारत की पहली महिला IPS अधिकारी किरण बेदी द्वारा भी सम्मानित की जा चुकी है, जोकि बड़े गर्व की बात है.

पहली बार में ही UPSC क्लियर 

वहीं अगर मुद्रा गैरोला की पढ़ाई की बात करें तो इन्होंने मुंबई के एक मेडिकल कॉलेज में BDS यानी डेंटल में दाखिला लिया था, जिसमें उन्हें गोल्ड मेडल भी मिला था. ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद वह अपने पूरे परिवार सहित दिल्ली आ गई और MDS में दाखिला लिया, परंतु उनके पिता उन्हें IAS अफसर बनाना चाहते थे. जिस वजह से मुद्रा ने MDS की पढ़ाई बीच में छोड़कर UPSC की पढ़ाई शुरू कर दी. उन्होंने पहली बार में ही वर्ष 2018 में UPSC क्लियर कर लिया था और वह इंटरव्यू में रह गई. 2019 और 2020 में भी ऐसा ही हुआ.

वर्ष 2021 में मिली सफलता 

3 बार UPSC में असफलता मिलने के बाद भी मुद्रा ने साहस और हिम्मत नहीं छोडी और वह तैयारी में लगी रही. वर्ष 2021 में मुद्रा ने फिर से UPSC एग्जाम दिया और 165वीं रैंक के साथ UPSC क्लियर किया. मुद्रा की 4 सालों की मेहनत रंग लाई और वह IPS अफसर बन गई. इसके बाद भी वह यही नहीं रुकी वर्ष 2022 में 53वीं के साथ उन्होंने UPSC क्लियर किया और वह IAS अफसर बन गई. मुद्रा के पिता भी IAS अफसर बनना चाहते थे परंतु वह भी इंटरव्यू में सफल नहीं हो पाए और उनका सपना अधूरा रह गया जो उनकी बेटी ने पूरा किया.

Mukesh Kumar

हेलो दोस्तों मेरा नाम मुकेश कुमार है मैं खबरी एक्सप्रेस पर बतौर कंटेंट राइटर के रूप में जुड़ा हूँ मेरा लक्ष्य आप सभी को हरियाणा व अन्य क्षेत्रों से जुडी खबर सबसे पहले पहुंचना है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

कृपया इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए आपके ऐड ब्लॉकर को बंद करे